Like and share
8

mppsc 2017 topper sampda sarraf, theinterview.in

इंदौर.
मध्य प्रदेश लोकसेवा आयोग (एमपीपीएससी) ने स्टेट सिविल सेवा 2017 का रिजल्ट जारी कर दिया है. इसमें जबलपुर की संपदा सर्राफ 1575 में से 1000 अंक हासिल कर टॉपर रहीं. एमपीपीएससी की चयन सूची के टॉप फाइव में 4 गल्र्स प्रतिभागी शामिल हैं. इनका चयन डिप्टी कलेक्टर पद के लिए हुआ है. एमपीपीएससी ने ६ नवंबर से 6 दिसंबर तक राज्यसेवा के इंटरव्यू लिए थे.

एमपीपीएससी 2017 में टॉपर बनी संपदा बीते वर्ष आयोजित राज्यसेवा 2016 में 9वें स्थान पर रहीं थीं और उस दौरान उन्हें डीएसपी का पद मिला था. लेकिन संपदा का सपना सिविल सेवा में जाने का था और उन्होंने फिर एग्जाम दिया. इस बार वो आठ स्थानों की छलांग लगाते हुए राज्यसेवा में सर्वोच्च डिप्टी कलेक्टर का पद भी हासिल कर लिया है.

mppsc topper sampda sarraf with family, theinterview.in

एमपीपीएससी २०१७ की जारी सिलेक्शन लिस्ट में दूसरे स्थान पर शिवांगी अग्रवाल और तीसरे स्थान पर जूही गुप्ता है. दोनों के ही कुल प्राप्तांक समान 989 है. हालांकि लिखित परीक्षा में शिवांगी को जूही से 11 अंक ज्यादा मिलने पर दूसरे स्थान स्थान पर रखा गया है. चौथे स्थान पर रही प्रिया वर्मा को 984 जबकि पांचवे स्थान पर रहे अंशुल खरे को 983 अंक मिले हैं. चयन सूची की बात करें तो टॉप १० में ६ गल्र्स शामिल हैं. राज्यसेवा-2017 में कुल 517 पद थे. इनमें से डिप्टी कलेक्टर के 27, डीएसपी के 45 पद थे. जबकि सबसे ज्यादा 315 पद नायब तहसीलदार के थे. विज्ञापन की घोषणा के बाद तीन बार नायब तहसीलदार के पदों की संख्या बढ़ाई गई थी.

पीएएससी ने बनाया रिकार्ड

एमपीपीएससी 2017 के अंतिम नतीजे के साथ ही पीएससी ने अपना रिकॉर्ड सुधारते हुए एक नया रिकार्ड बना लिया है. यह पहला मौका है जब पीएससी ने जिस वर्ष की परीक्षा प्रक्रिया शुरू की उसी साल उसे पूरा कर चयन सूची भी जारी कर दी. पीएससी के पूर्व सचिव मनोहर दुबे ने बीते साल ही पीएससी में परीक्षा कार्यक्रम का एडवांस शेड्यूल घोषित करने की परंपरा शुरू की थी. इसे उसी का नतीजा माना जा रहा है.

पीएससी के टॉप टेन

संपदा सर्राफ

शिवांगी अग्रवाल

जूही गुप्ता

प्रिया वर्मा

अंशुल खरे

प्रिया चंद्रावत

गगन बिसेन

घनश्याम धनगर

अमन मिश्रा

आयुषी जैन

ये भी पढ़ें:

एमपीपीएससी : सिविल सेवा 2017 का फाइनल रिजल्ट घोषित

MPPSC: 202 पदों के लिए 18 फरवरी को होगी प्रारंभिक परीक्षा

झोपड़-पट्टी में रहने वाला बना इसरो में वैज्ञानिक

Like and share
8