Like and share
2

saraha app become popular in india, theinterview.in

नई दिल्ली.
सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक और ट्विटर के बाद अब एक नया एप्प दुनिया में तहलका मचा रहा है. इसका नाम है सराहा. यह भारत में भी छा गया है. इसे लोग काफी पसंद कर रहे हैं. यूथ तो इसका दीवाना हो गया है. एप्प को लॉन्च हुए अभी एक महीना ही हुआ है और इसे 50 लाख से अधिक बार डाउनलोड किया जा चुका है. इस एप्प की खास बात है कि इसे बनाने वाले स्टार्टअप को सिर्फ तीन लोग ही मिलकर चालते हैं. इसे तैयार किया है साऊदी अरब के 29 साल के जेन अल अबीद्ीन तौफीक और उनके दो दोस्त शामिल हैं.

ये है खासियत
इस एप्प में यूजर यूजर अपनी प्रोफाइल से जुड़े किसी भी व्यक्ति को मैसेज भेज सकते हैं. इसकी सबसे मजेदार बात है कि मैसेज पाने वाले को यह पता नहीं चलेगा कि ये मैसेज किसके पास से आया है. इसके साथ ही मैसेज का जवाब भी नहीं दिया जा सकता. यही कारण है कि यह एप्प लोगों के बीच बहुत तेज़ी से लोकप्रिय होता जा रहा है.

सराहा एक अरबी शब्द है, जिसका मतलब ‘ईमानदारी होता है. तौफिक ने बताया ‘एप बनाने का मकसद यह है कि इसके जरिये कोई कर्मचारी, बॉस या वरिष्ठ को बिना झिझक अपनी राय दे सके. यूजर किसी व्यक्ति से वो सब कह सकें जो उनके सामने आकर नहीं कह सकते. ऐसा हो सकता है कि वे जो कह रहे हैं उसे सुनना उन्हें अच्छा न लगे. तौफिक ने कहा ‘वो नतीजों को लेकर सकारात्मक थे और सोच रहे थे कि डाउनलोड की संख्या 1000 तक पहुंचेगी, पर अब गूगल प्ले स्टोर पर ही 50 लाख से भी ऊपर पहुंच गई है.

सराहा आईओएस और गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध है. सराहा एप इसी साल फरवरी में वेबसाइट के तौर पर लॉन्च हुआ था. लॉन्चिंग के महीनेभर में ही मिस्र में इसकी यूजर्स संख्या 25 लाख, अरब में 12 लाख और ट्यूनिशिया में 17 लाख पहुंच गई थी. इसके बाद इसे एप के तौर पर लांच किया गया. जून में यह एपल एप स्टोर और गूगल प्ले स्टोर पर आया. अमेरिका, फ्रांस, ब्रिटेन समेत 30 से ज्यादा देशों में सराहा एपल एप स्टोर पर मौजूद है.

ट्रोलिंग और बुलिंग को बढ़ावा

एप्प के कारण बुलिंग और ट्रोलिंग बढ़ सकती है. एप्प को यूज करने वाले लोगों के अनुसार खासकर गल्र्स को कई तरह के मैसेज आ रहे हैं. जिसके कारण उन्होने इसका उपयोग करना ही बंद कर दिया.
इसके गलत इस्तेमाल पर तौफिक ने कहा ‘ऑनलाइन उत्पीडऩ, शोषण या बुरा व्यवहार करने से रोकने की सख्त व्यवस्था भी है. यहां ब्लॉक या फिल्टर करने की सुविधा भी दी है.

ये भी पढ़ें:

प्रोफेशनल ब्लॉगर बन आप भी कमा सकते हैं लाखों

चार दोस्तों ने मिलकर देखा ईको फेंडली ट्रांसपोर्ट का सपना होगा साकार

बीएड नहीं की तो जाएगी नौकरी, सरकार ने दिया आखिरी मौका

Like and share
2