Like and share
2

world university ranking 2018, theinterview.in

नई दिल्ली.
उच्च शिक्षा में हमारे संस्थानों का प्रदर्शन हमेशा चिंताजनक रहा है. हाल ही में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जारी की गई रैंकिंग में संयुक्त अरब अमीरात के दो संस्थान पहली बार टाइम्स हायर एजुकेशन वल्र्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग में शामिल हुए हैं. जबकि ऑक्सफोर्ड लगातर दूसरे साल पहले नंबर पर रहा है. रैंकिंग में गत वर्ष पहले स्थान पर रहा कैंब्रिज दूसरे स्थान पर पहुंच गया है. भारत में आईआईटी दिल्ली और आईआईएससी बैंगलोर जैसे संस्थानों के लिए अच्छी खबर नहीं है. इनकी रैकिंग में गिरावट आई है.

ताजा रैंकिंग के मुताबिक, टॉप 1,000 यूनिवर्सिटीज में भारतीय विश्वविद्यालयों की संख्या 31 से घटकर 30 रह गई है. इसके अलावा रैंकिंग में भी गिरावट आई है. देश के प्रमुख विश्वविद्यालय, भारतीय विज्ञान संस्थान को 201-250 ग्रुप से हटाकर 251-300 बैंड में कर दिया गया है. क्योंकि इसकी शोध आय और उद्धरण प्रभाव में कमी आई है.

जबकि आईआईटी दिल्ली को भ्ीा 351-400 ग्रुप से हटाकर 501-600 और आईआईटी कानपुर को भी 401-500 से 501-600 ग्रुप में कर दिया गया है. आईआईटी में केवल आईआईटी बांबे की रैंकिंग में बदलाव नहीं किया गया है. इसकी रैंकिग 351-400 के बीच की है.

ये यूनिवर्सिटी हैं शामिल
वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग में आईआईटी के अलावा देश के अन्य संस्थान भी शामिल हैं. जिसमें अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, दिल्ली विश्वविद्यालय, भारतीय विद्यालय खान, जादवपुर विश्वविद्यालय, राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान राउरकेला, पंजाब विश्वविद्यालय, सावित्रीबाई फुले पुणे विश्वविद्यालय, तेजपुर विश्वविद्यालय, अमृता विश्वविद्यालय, आंध्र विश्वविद्यालय, अन्नामलाई विश्वविद्यालय, बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी और साइंस पिलानी, कलकत्ता विश्वविद्यालय, कोचीन विश्वविद्यालय विज्ञान और प्रौद्योगिकी, जामिया मिलिया इस्लामिया, केरल विश्वविद्यालय, उस्मानिया विश्वविद्यालय, पांडिचेरी विश्वविद्यालय, श्री वेंकटेश्वर विश्वविद्यालय, थापर विश्वविद्यालय और वीआईटी विश्वविद्यालय ने विश्व विश्वविद्यालय रैंकिंग में अपना स्थान बनाए रखा है.

जबकि, चीन ही एकमात्र ब्रिक्स राष्ट्र है, जो नाटकीय रूप से उन्नत हुआ है, यह अब तालिका में चौथा सबसे अधिक प्रतिनिधित्व वाला राष्ट्र है, टॉप 200 में इसके 60 विश्वविद्यालय शामिल हैं. यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफोर्ड ने लगातर दूसरे साल में अपना पहला स्थान बनाए रखा है, जबकि कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय चौथे स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंच गया है.

खबर को लेकर अपनी प्रतिक्रिया कमेंट बॉक्स में दे सकते हैं. अगर खबर पसंद आई हो तो इसे शेयर जरूर करें.

ये भी पढ़ें:

सलवार सूट में रेसलर को धूल चटाने वाली रेसलर जाएंगी डब्ल्यूडब्ल्यूई

M.P. GK: प्रदेश का पहला मोबाइल बैंक कहां स्थित है

‘सराहा’ ने लोगों को बनाया दीवाना, सिर्फ तीन लोग मिलकर चला रहे एप्प

Like and share
2